Anupama Written Update Today: पाखी की घर वापसी: Latest episode (Sep 14-2023)

Anupama Written Update Today (Sep 14-2023) Hindi: Anupama Serial Written Episode: Telly Update Trendingheadlines.In


आज के एपिसोड की शुरुआत में हम देखते है गुरुमाँ आकर पाखी के पास बैठ जाती है और उसको गौर से निहारने लगती है। अनुज पुलिस इंस्पेक्टर से बात करता हुआ बोलता है इंस्पेक्टर प्लीज कुछ करिये पाखी को ढूंढिए।
अनुपमा एकटक दरवाजे की तरफ देखि जा रही थी। तभी पाखी को गुरुमाँ लेकर आती हुई नजर आती है।
दोनों को देख कर सभी लोग बहुत भावुक हो जाते है। अनुपमा पाखी के गले लग कर बहुत रोती है। अंकुश गुरुमाँ को अंदर लेकर आते है। अनुज को अनुपमा की वो बात याद आती है ज़ब अनुपमा ने अनुज से कही थी की उसने गुरुमाँ को देखा था।
अनुज वनराज को फ़ोन करके पाखी के वापस आने की खबर देता है और सबको घर आने के लिए बुलाता है।
अनुज मालती देवी की हालत देख कर सोचता है की गुरुमाँ की ऐसी हालत नहीं होनी चाहिए थी।
अधिक अनुपमा से थोड़ी देर पाखी के साथ रहने के लिए पूछता है और अनुपमा मान जाती है। अधिक पाखी के साथ किये गए अपने गुनाहो के लिए पाखी से माफ़ी मांगता है।
रोमिल रोते हुए सोच रहा है अब अनुपमा और अनुज मुझे कभी माफ़ नहीं करेंगे।
अनुज अनुपमा से उस दिन उसकी बात को अनदेखा करने के लिए माफ़ी मांगता है और बोलता है इस उम्र में गुरुमाँ जैसी हालत किसी की नहीं होनी चाहिए।
अधिक पाखी से पूछता है की उनलोगो ने तुम्हारे साथ कुछ गलत तो नहीं किया ना? पाखी उसको बताती है वो लड़का अच्छा था। मुझे समय समय पर खाने के लिए देता था मेरे साथ कोई गलत व्यवहार नहीं किया। मै चिल्ला रही थी शायद इस वजह से उसने मुझे नींद की दवा पी दिया था फिर उसने गलती से या जानबूझ कर दरवाजा खुला छोड़ दिया था तो मै मौका देख लड़ भाग निकली।लेकिन नींद की दवा के असर होने के कारण मै ज्यादा दूर टक भाग नहीं सकी थी। वाह अधिक से पूछती है ये सब किसने किया और मुझको यहाँ कौन लेकर आयी? अधिक उसको बताता है की मालती देवी उसको घर लेकर आयी और ये सब रोमिल ने किया था हमसे बदला लेने के लिए।
तभी वनराज सहित सभी शाह परिवार पाखी को देखने पहुंच जाता है।
बा रोमिल को बोलती है जेल जाने के बाद ही तुम्हारा अक्ल ठिकाने आएगा। वनराज रोमिल को घसीटते हुए पुलिस के पास ले जाने लगता है रोमिल गिड़गिराने कर माफ़ी मांगने लगता है वो वनराज से बोलता है की मैने जानबूझ कर कुछ नहीं किया।अंकुश बीच में आकर रोमिल को बचाता और वनराज से माफ़ी मांगने लगता है वह बोलता है की रोमिल को माफ़ करदे वो कोई गलती नहीं करेगा इसकी गारंटी मै लेता हूँ। अधिक आकर रोमिल को बोलता है तुमको तो जेल जाना ही होगा लेकिन अनुज उसको इस मैटर से दूर रहने के लोए बोलता। अनुपमा बोलती क्युकी तुम्हारा हाथ पाखी के किडनैपिंग में नहीं था इसका मतलब ये नहीं तुम दूध कर धुले हुए हो। जिस तरह रोमिल की गलती माफ़ नहीं की सकती ठीक उसी तरह तुम्हारी भी गलती माफ़ नहीं की सकती है। इन सब बातो के बीच में ही गुरुमाँ आ जाती है। वो खुद से पाखी के बारे में बात कर रही होती है। अनुपमा भागकर गुरुमाँ के पास आती है लेकिन गुरुमाँ उसको पहचान नहीं पाती है।

प्रीकैप: पाखी कहती है कि वे त्योहार पूरा करेंगे। वह अपने भाइयों को राखी बांधती है और बाबू जी को भी। इसके बाद वह अनुज और रोमिल को भी राखी बांधती हैं। अनुज अनुपमा से कहता है कि अगर डॉक्टर कहते हैं कि हम मालती देवी को किसी अस्पताल या केंद्र में स्थानांतरित कर देंगे, तो हम ऐसा करेंगे, मैं नहीं चाहता कि वह आपके साथ रहे और कहता है कि अंतिम निर्णय आपका होगा। अनुपमा उसकी ओर देखती है।

Join our Telegram

Best Struggle Motivational Quotes in Hindi (trendingheadlines.in)

Leave your comment