Anupama Written Update Today: अनुपमा 1st सितम्बर 2023 Latest Written Update

काव्या ने आज बा के सामने खोल दी बच्चे का राज जिस कारण शाह हॉउस में होगी खूब बबाल!

Screenshot 98

अनुपमा के आज के एपिसोड के शुरुआत में अनुज पाखी से कहता है कि उसने जो कुछ भी कहा उसने सब सुन लिया है, अब वह उसकी बात सुनेगी। वह कहता है कि वह यह तय नहीं करेगी कि उसकी कंपनी के प्रोजेक्ट में कौन काम करेगा और कौन काम नहीं करेगा, और उसे आपने साथ ऑफिस जाने के लिए कहता है और कहता है कि उसे देर हो रही है। पाखी पूछती है किआप सबने मेरे पति को अपना दुश्मन क्यों बनाया है । तभी रोमिल बीच में बोल पड़ता है रोमिल कहता हैं कि आपका पति बुरा, धोखेबाज, दुष्ट और पत्नी को पीटने वाला है। पाखी अनुज से पूछती है कि मेरे पति ने क्या किया है? अनुज कहता हैं कि मुझे यह कहते हुए खेद हो रहा है, कि कोई व्यक्ति आधुनिक कपड़ों और शिक्षा से आधुनिक नहीं हो सकता, और बताता है कि व्यक्ति दिमाग से आधुनिक होगा। वह कहता है कि तुम्हारी माँ तुमसे अधिक आधुनिक है, हालाँकि वह हाथ से बनायी साड़ी पहनती है, अच्छी तरह से अंग्रेजी नहीं बोल पाती। और तुम तो आज की लड़की होकर भी पिछड़ी हुई हो और अपने पति से थप्पड़ खाकर चुप रहती हो, तुम एक कमजोर औरत की तरह व्यवहार मत करो। वह कहता है ऐसा करके तुम सिर्फ खुद को ही नहीं पूरी पूरी पीढ़ी को शर्मिंदा कर रही हो। पाखी कहती है कि मेरे पति ऑफिस जाएंगे। अनुज कहता है कि अगर मेरा बस चले तो वह जेल चला जाएगा। वह उससे कहता है तुम खुद अनु से पूछ लो कि वह उसे कहां भेजना चाहती है। वह उससे कहता है कि वह उसे अपनी बेवकूफी भरी पारिवारिक बातों से परेशान न करे और उसे यह नाटक बंद करने के लिए कहता है, पूछता है कि क्या तुम मेरे साथ आ रही हो या नहीं। वह कहता है कि तुम्हारे बचकाने नखरे के लिए मेरे पास पूरा दिन नहीं है। अधिक पाखी से कहा कि उसे ऑफिस जाने के लिए कहता है, और कहता है कि उन सभी को यह विश्वास करने के लिए समय चाहिए कि मैं बदल गया हूं। अंकुश पाखी को आने के लिए कहता है। अधिक ने पाखी से कहा कि उसे यकीन है कि वह अच्छी प्रस्तुति देगी और उसे उस पर गर्व है। अनुज अंकुश के साथ चला गया। अधिक अपने वास्तविक स्वरूप में आकर उस चीज को फेंक देता है और कहता है कि अगर मैं नौकर हूं तो वह मुझसे कैसे बात कर रहा है। रोमिल कहते हैं कि आप उच्चतम स्तर के चालाक और बेशर्म हिंसक पति हैं। अधिक रोमिल से कहता मैं तुम्हारा चेहरा तोड़ दूंगा। रोमिल कहता हैं कि मैं तुम्हारी पत्नी नहीं हूं कि कहूं मैं तुमसे प्यार करती हूं, अगर तुम मुझे मारते हो तो मै तुम्हारी बैंड बजा दूंगा यह कह रोमिल वह से चला जाता है । बरखा बोलती है यह लड़का ओवरस्मार्ट है। अधिक बरखा से कहता है अनुज और पाखी को तो मैं देख लूंगा लेकिन पहले इसको देखना होगा। ये बोल कर वह सामने टेबल पर रखा पैसे का केस उठा लेता है बरखा उससे पूछती क्या कर रहे हो? तो उसके होंठो पर कुटिल मुस्कान तैर जाती है।
इधर शाह हाउस में बा काव्या को रोना बंद करने के लिए कहती है और पूछती है कि क्या हुआ क्यों इतना रो रही है ? बाबूजी काव्या से कहते हैं कि अगर आप हमें नहीं बताएंगे तो किससे कहेंगे। अनुपमा काव्या को कमरे में जाने के लिए कहती है। काव्या धीरे से कहती है कि यह बच्चा वनराज का नहीं है। बा पूछती है कि तुम क्या कह रही हो जोर से बोलो। काव्या कहती है कि यह बच्चा मेरा है, लेकिन वनराज का नहीं। यह सुनकर अनुपमा अपनी आंखें बंद कर लेती है। बा और अन्य लोग चौंक जाते हैं। काव्या रोते हुए कहती है मुझे क्षमा करें। वनराज काव्या को अंदर जाने के लिए कहता है। अनुपमा पूछती है कि अब क्या होगा, वह अपना अपराध सहन नहीं कर सकी और इसलिए बोल दी। वनराज कुछ कहना चाहता हैं लेकिन.बा बीच में ही बोल पड़ती हैं कि तुम दोनों इसके बारे में जानते हो, लेकिन हम नहीं जानते थे। वह पूछती है कि तुम्हारा क्या मतलब है कि यह बच्चा काव्या का है लेकिन वनराज का नहीं ? काव्या कहती है कि यह बच्चा अनिरुद्ध और मेरा है। हर कोई हैरान रह जाता है. काव्या रोती रहती है। बाबू जी काफी हैरान हो जाते है|
यहा हम अधिक को रोमिल में कमरे देखते है तो बरखा अधिक से पूछती है कि वह रोमिल के कमरे में क्या कर रहा है। अधिक कहते हैं कि मैं रोमिल का टिकट काट रहा हूं। बरखा पूछती है कि क्या वह रोमिल को फंसाने के लिए पैसे वाला केश यह रख रहा है।अधिक हाँ कहता है,और अनुज उसे बाहर निकाल देगा और वो वही जायेगा जहाँ उसे होना चाहिए सड़क पर |
यह शाह हाउस में मातम का माहौल है| बा उदास होकर बैठी नज़र आती है वो उस पल को याद कर रही है जब काव्या की गर्भावस्था के बारे में सुनकर बा को कितनी खुशी हुई थी । वह बताती है कि यह विश्वासघात है, और कहती है कि हम इतने दिनों से जश्न मना रहे हैं, लेकिन हमें पता चला कि सब कुछ विश्वासघात है। बाबू जी कहते हैं कि वह बहुत दुखी हैं और रोते हुए बोलते है कि कान्हा जी ने उन्हें लंबी उम्र क्यों दी? उनको मुझे ये सब सुनने से पहले ले जाना चाहिए था । बा काव्या से पूछती है कि वह अपना पाप का घड़ा यहां क्यों लेकर आई ? बा काव्या को झंझोड़ते हुए कहती है इसको जहर देकर मार क्यों नहीं दिया ? घर लेकर क्यों आ गयी। अनुपमा बा से काव्या को छोड़ने के लिए कहती है और बोलती है कि वह गर्भवती है। बा रोते हुए कहती हैं कि उनका सिर 100 जन्मों तक नीचा रहेगा, और बताती हैं कि उनकी इज्जत थी, लेकिन उनकी बहू ने उनकी इज्जत पर कालिख पोत दी है। वह कहती हैं कि जब कोई पुरुष पाप करता है तो उसका दंड अकेले ही भुगतना पड़ता है, लेकिन जब महिला पाप करती है तो पूरे परिवार को दंड भुगतना पड़ता है। अनुपमा उसे रोकने की कोशिश करती है। लेकिन बा उसे धक्का दे देती है| वनराज चिल्लाता हैं बा। बा उसको भी चुप रहने के लिए कहती है और उनसे सच्चाई छिपाने के लिए उसको भी खूब सुनती है। वह कहती है कि बहू ने उसका चेहरा काला कर दिया है, ने इसे छुपाया है और यहां तक कि आपने भी इसे छुपाया है। वह काव्या से कहती है कि उसने जो कुछ भी किया है उसके लिए वह शर्मिंदा है, और कहती है कि जब तुम अनिरुद्ध की पत्नी थी, तो तुमने वनराज के साथ उसे धोखा दिया और अब तुमने अनिरुद्ध के साथ वनराज को धोखा दिया। अनुपमा कहती है कि काव्या ने गलती की है, लेकिन कम से कम उसमें सच कहने की हिम्मत है। वह कहती हैं कि अगर उसने बताया नहीं होता तो हमें पता भी नहीं चल पता। बा कहती हैं तो क्या हम उसकी आरती करे इसका सम्मान करे, हम खुशियाँ मनाये क्योंकि हमें सत्यवान बहू मिली है। अनुपमा कहती है कि आपका गुस्सा जायज है, लेकिन एक बार काव्या की बात सुनो। बा कहती है कि वह कुछ नहीं सुनना चाहती है। अनुपमा उससे कहती है उसका गुस्सा जायज है, लेकिन उसकी बात सुन लो। बा उसे चुप रहने के लिए कहती है और कहती है कि तुमने मुझसे छिपा कर मेरी पीठ में छुरा घोंपा है। वह वनराज से पूछती है कि वह कब महान बन गया और उसने यह बात उससे क्यों छुपाई। काव्या कहती है कि यह वनराज का नहीं बल्कि मेरी गलती है। बा उसे चुप रहने के लिए कहती है, नहीं तो वह उसकी जान ले लेगी।

अनुज ऑफिस में किसी से बात करता है और कहता है चिंता मत करो, पैसे जमा हो जायेंगे, मैंने यह काम भाई को दे दिया है। पाखी वही सामने बैठकर लैपटॉप पर कुछ टाइप कर रही है. अनुज रिसेप्शनिस्ट को फोन करता है, और पूछता है कि क्या अनु ने फोन किया या मैसेज किया। वह कहता है कि अगर वह मैसेज करती है तो मुझे बताओ। पाखी कहती है कि मम्मी शाह हाउस गई होंगी, फिर कुछ ड्रामा हुआ होगा। अनुज कहता है कि उसे वहां जाने की आदत है, और कहता है कि तुम चिंता मत करो, वह संभाल लेगी। पाखी कहती है कि अगर वह निजी जिंदगी में उलझ जाएगी तो काम कैसे करेगी। अनुज कहते हैं कि मुझे पता है कि इस चीज़ का क्या असर होगा, और कहते हैं कि अब तुम अपने निजी जीवन और पति के बारे में बात करोगी। वह कहते हैं कि यह काम कोई समोसा नहीं है, जो आप अपने पति के साथ खान चाहती हो | अनुज बोलता है कि तुम ऑफिस और घर में मिले अवसर का अपमान कर रही हो, तुमने अपना स्वाभिमान खो दिया है, यह तुम्हरा जीवन है, लेकिन यह कार्यालय मेरा पवित्र स्थान है, मैं किसी को इसका अपमान नहीं करने दूंगा।

बा कहती हैं कि मुझे अपनी बेशर्मी पर आश्चर्य हो रहा है कि मैं यह सुनकर कैसे जिंदा रह सकती हूं। तोशू कहता है मैं भी इतना नीचे नहीं गिरा हूं।
किंजल उसको चुप रहने को कहती है। तोशु कहता हैं कि इस घर में जब कोई पुरुष गलती करता है तो सभी को उसे डांटने का मौका मिल जाता है, लेकिन जब कोई महिला गलती करती है तो सभी चुप हो जाते हैं और दूसरों से भी कुछ नहीं कहने के लिए कहा जाता हैं। किंजल का कहना है कि मामला पुरुष और महिला के बारे में नहीं है, और कहती है कि अगर तुम चिल्लाओगें तो समस्या हल नहीं होगी। तब वह पूछता है कि जब डिंपी और मैंने गलती की थी तो तुम क्यों चिल्लायी थी ? किंजल पूछती है कि तुम्हारा क्या मतलब है? तो वह कहता है कि हर कोई शांति के बारे में सोचता है, जब महिला गलती करती है, और मम्मी कहती है कि चिल्लाओ मत। वह अनुपमा से कहता है कि जो पापा ने तुम्हारे साथ किया था, वही काव्या ने पापा के साथ किया है| वह कहता हैं कि अगर हमने आपको तब उपदेश दिया होता कि लड़ाई मत करो तो आपको कैसा लगता है। अनुपमा बा को शांत करने की कोशिश करती है। वनराज काव्या से पूछता है कि क्या वह अब खुश है, तुमने अपना अपराध बोध कम करके मेरे बूढ़े माता-पिता को इतना दर्द दे दिया है। काव्या उससे कहती है कि मुझ पर बोझ था। वह कहते हैं कि वह बोझ तुम्हारी सज़ा थी, जो तुमने उन पर डाल दिया। समर पूछता है कि क्या आपने इस बच्चे को स्वीकार कर लिया है पापा। बा चिल्लाती है नहीं! बाबू जी पूछते हैं कि तुमने हमें बताया क्यों नहीं? वह कहते हैं कि तुमको हमें तब बताना चाहिए था या अब नहीं बताना चाहिए था। डिंपी बा से कहती है कि आप मुझे बुरा कहती हैं, लेकिन अब आपके पोते और बहू का किसी के साथ अफेयर चल रहा है, और पूछती है कि क्या यह घर है या किसी खराब फिल्म का चरित्र प्रोफ़ाइल है। बा चिल्लाकर उसे चुप रहने के लिए कहती है। किंजल बा को देने के लिए गिलास में पानी देती है। वनराज बा से पानी पीने के लिए कहता है। बा कहती है कि वह ये सब नहीं चाहती है वो तो मरना चाहती है। अनुपमा कहती है बा ऐसा मत कहो! बा कहती हैं कि मैंने जीवन भर भगवान से प्रार्थना की, लेकिन उन्होंने मुझे श्राप दे दिया। काव्या कहती है कि मैं स्वीकार करती हूं कि मैंने गलती की है। बा कहती है कि यह एक पाप है, और कहती है कि कोई भी महिला यह स्वीकार नहीं करेगी कि उसकी बहू इतना नीचे गिर जाएगी, और उसका बेटा उसके सामने गिर जाएगा। वह काव्या को घर से चले जाने के लिए कहती है। अनुपमा काव्या की बीच -बचाव करती है और कहती है कि वह यहां से कहां जाएगी? वह कहती है कि काव्या घर की बहू है और यह उसका भी घर है। बा कहती है कि घर में केवल गृह लक्ष्मी रहती है, इसीलिए वह नहीं रह सकती । वह काव्या को बाहर खींचने की कोशिश करती है। अनुपमा उसे रोकने की कोशिश करती है। बा कहती है कि तुम उसकी पक्ष ले रही हो । अनुपमा कहती है कि मैं उसका पक्ष नहीं ले रही हूं, बल्कि इस बच्चे का पक्ष ले रही हूं। वह कहती है उसकी गलती जायज नहीं है. वह पूछती है कि जब आपके बेटे ने मुझे धोखा दिया तो क्या आपने उसे बाहर निकाल दिया? वह कहती है कि आपके बेटे की गलती माफ की जा सकती है, लेकिन काव्या की नहीं? वह कहती है कि काव्या वैसे ही गलत है जैसे मिस्टर शाह मेरे लिए थे? वह पूछती है कि अगर काव्या को चोट लग गई या बच्चे को कुछ हो गया तो क्या आप सभी खुद को माफ कर पाएंगे ? क्या आपने उसे बाहर फेंक दिया? वह कहती है कि आपके बेटे की गलती माफ की जा सकती है, लेकिन काव्या की नहीं। वह कहती है कि काव्या गलत है जैसे मिस्टर शाह मेरे लिए थे? वह पूछती है कि अगर काव्या को चोट लग गई या बच्चे को कुछ हो गया तो क्या आप सभी खुद को माफ कर देंगे? क्या आपने उसे बाहर फेंक दिया? वह कहती है कि आपके बेटे की गलती माफ की जा सकती है, लेकिन काव्या की नहीं। वह कहती है कि काव्या गलत है जैसे मिस्टर शाह मेरे लिए थे? वह पूछती है कि अगर काव्या को चोट लग गई या बच्चे को कुछ हो गया तो क्या आप सभी खुद को माफ कर देंगे?

प्रीकैप: अनुपमा अधिक से कहती है कि उसके दुर्व्यवहार और गलतियों को उसकी बेटी से छुपाया जा सकता है, लेकिन उससे नहीं। पाखी काफी कुछ कहती है| अनुपमा कहती है कि गलत जगह पर तुम्हारी चुप्पी बहुत हो गई। पाखी पूछती है कि हम खुश हैं और एक साथ हैं, तुम हमें अलग क्यों करना चाहती हैं। वह कहती है कि अगर तुमने मेरी शादीशुदा जिंदगी में दखल देना बंद नहीं किया तो मैं कुछ ऐसा करूंगी कि तुम्हारे पास पछताने के अलावा कुछ न बचे।

Read More: Anupama 31st August 2023 Latest Written Episode Update (trendingheadlines.in)

Sharing

Leave your comment